दामाद के बच्चे की माँ बनने बाली हु

Discussion in 'Hindi Sex Stories' started by 007, Dec 3, 2017.

  1. 007

    007 Administrator Staff Member

    Joined:
    Aug 28, 2013
    Messages:
    138,656
    Likes Received:
    2,137
    //8coins.ru मैं राधिका वर्मा, Kamukta दिल्ली से, आज मैं आपको अपनी एक सच्ची कहानी बताने जा रही हु ताकि मैं अपने मन को हल्का कर पाऊं, मेरे प्यारे दोस्तों कभी कभी ज़िंदगी में कुछ ऐसा हो जाता है जिसको ना करते हुए भी करना पड़ता है, चाहे वो गलत ही क्यों ना हो, आप में से भी कई लोगो के सामने ऐसी स्थिति आई होगी जिसको नहीं चाहते हुए भी गलती कर बैठे, और कई बार तो ऐसे रिश्तों में हो जाता है जिसको भारतीय समाज में अलग दृष्टि से देखि जाती है, आज मैं आपको अपनी एक ऐसी ही कहानी कहने जा रही हु,

    मैं 36 साल की हु, और विधवा हु, आप सोच रहे होंगे की 36 तो हां मेरी शादी 16 में ही हो गई थी, और और मैंने अपनी बेटी की शादी इसी साल ही की, मुझे और कोई संतान नहीं था सिर्फ बेटी के अलावा, मेरा दामाद गुडगाँव में एक कॉल सेंटर में मैनेजर है, मेरी बेटी एक पब्लिक स्कूल में नौकरी करती है, घर पे मैं होती हु, बेटी सुबह 7 बजे ही चली जाती है और 4 बजे शाम को आती है, मेरा दामाद दिन में ३ बजे जाता है और रात को २ बजे आता है.

    जब मेरी बेटी 8 साल की थी तभी मेरे पति का देहांत हो गया, मैं बहुत ही खुले विचार की महिला हु, मैं ना तो अपनी बेटी को किसी चीज की कमी होने दी ना तो मैं कभी ऐसे रही की मैं एक विधवा हु, पर मैंने कभी किसी के साथ सेक्स नहीं किया था, पति इतना पैसा छोड़ के गए थे उससे अभी तक की ज़िंदगी काफी आराम से चल रही थी, पर जब से दामाद घर जमाई बना तब से काफी कुछ चेंज हो गया. कैसे मैं आगे बताती हु,

    एक दिन मैं किचन में काम कर रही थी, बेटी मेरी जॉब पे गई थी, सुबह से आठ बज रहे थे मेरा दामाद अनिल उठा और किचन में आया और मुझे गले से लगा के हैप्पी बर्थडे मम्मी जी कहा, मेरे आँख से आंसू छलक गए, क्यों की इसी तरह से मेरे पति भी मुझे बर्थडे विश करते थे, मैं थोड़ी नरवश हो गई और रोने लगी, मेरा दामाद मुझे गले से लगाए रखा, मुझे बहुत अछा लग रहा था पर मैंने महसूस की की मेरी छाती उसके छाती से चिपक रही थी और ब्लाउज से बाहर आने लगी मेरा आँचल भी निचे गिरा हुआ था, और अनिल ये सब देख रहा था, मैं शर्मा गई और अपने पल्लू को ठीक की, मैं अपने दामाद को थैंक्स कहा,

    उस दिन मैं दिन भर सोचते रही कैसे वो मुझे अपने सीने से चिपकाये हुए खड़ा था क्यों की काफी दिनों के बाद मुझे किसी मर्द ने स्पर्श किया था वो भी इस तरह से, सच पूछिये तो मेरा मन डोल गया और मेरे मन में कई सारे विचार आने लगे, ऐसा लगा की रेगिस्तान के पेड़ में किसी ने पानी डाल दिया और वो पौधा धीरे धीरे लहलहाने लगा, वही मेरे साथ भी होने लगा, उस दिन मेरे मन में अजीब सी कौतुहल थी, पर आगे सिर्फ मेरे तरफ ही सिर्फ नहीं थी उधर भी था, अनिल जब भी सुबह सुबह उठता अब वो गुड मॉर्निंग कहके, मुझे अपने गले से लगा लेता, क्यों की उस समय बेटी होती नहीं थी.

    एक दिन अनिल ने गले लगाते हुए मुझसे कहा सासु माँ आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो, जब मैं आपको गले से लगाता हु मेरे रोम रोम सिहर जाता है, मेरे दिल की धड़कन बढ़ जाती है, मैं आपसे सेक्स करना चाहता हु, मेरे तो होश हवास उड़ गए पर ये होश उड़ने का नाटक था, मैंने कहा अनिल ये गलत है मैं तुम्हारी सास हु, अगर ये सब ज्योति को पता चलेगा तो क्या कहेगी, अनिल ने कहा सासु माँ देखो मैं आपकी फीलिंग्स भी समझ रहा हु, पर अगर आप मेरे से सम्बन्ध बनाते हो तो हमारे तीनो के रिश्ते और भी प्रगाढ़ हो जायेगा, आप मना नहीं करो प्लीज मैं वादा करता हु आप दोनों को मैं बहुत खुश रखूँगा.

    मैंने चुचाप खड़ी थी मेरी नजर झुकी हुई थी, और जब नजर उठाई तो वो हाथ फैलाये खड़ा था, और हम दोनों एक दूसरे को बाहों में सामा गए, मैं उसकी मजबूत बाहों में थी वो मेरी पीठ को टटोल रहा था और हाथ निचे करके मेरी चुतड के उभार को दबाते हुए अपने लण्ड के पास ले गया और मेरे होठ को चूसने लगा, मैं भी समा जाना चाहती थी, आज रेगिस्तान में वारिश हो रही थी, बारह साल के बाद मैं किसी की बाहों में झूल रही थी. हम दोनों एक दूसरे को होठ को इस तरह से चाट रहे थे जैसे किसी प्यासे को पानी मिल गया हो.

    उसके बाद मेरे दामाद मुझे उठा लिया और मुझे बेड रूम में लेके बेड पे लिटा दिया और आँचल को निचे कर के मेरे चूच को अपने हाथो से सहलाने लगा, मैं उससे देख के मुस्कुरा रही थी, और बोली ये बात सिर्फ मेरे और आपके बीच में ही रहनी चाहिए, अनिल ने मेरे सर पे हाथ रखा और कहा आप विस्वास करो मैं किसी को नहीं कहुगा चाहे जो भी सिचुएशन हो जाये, और मैंने फिर से उसके होठ को चूसने लगी, अनिल ने मेरे ब्लाउज के हुक को खोल दिया और मेरे चूच को ब्रा के ऊपर से ही दबाने लगा मेरा बड़ा बड़ा चूच ब्रा से निकलने के लिए बेताब थी मैंने खुद ही दोनों को अपने ब्रा से आज़ाद कर दिया, अनिल दोनों को बारी बारी से चूसने लगा और फिर हाथ निचे किया और साडी को ऊपर उठा के मेरे चूत को सहलाने लगा, मैं उस दिन पेंटी नहीं पहनी थी,

    मेरा चूत काफी गरम और गीली हो चुकी थी, मैं दो दिन पहले ही चूत के बाल को साफ़ किया था तो अनिल ने कहा आपका चूत तो बिलकुल साफ़ है तो मैंने कहा आपको कैसा चूत पसंद है तो अनिल ने कहा मुझे क्लीन शेव चूत पसंद है मैंने रात को ज्योति के चूत की बाल को खुद अपने हाथो से साफ़ किया है रेजर से. और फिर अनिल निचे जाके मेरी चूत को चाटने लगा. मैं तो बस आअह आआह आआह उफ्फ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ्फ़ कर रही थी . आप ये कहानी नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम पे पढ़ रहे है. मैं पागल हो रही थी मुझे लण्ड चाहिए था, मैंने अनिल के लण्ड को खुद ही निकाल ली और हिलाने लगी फिर मैं अपने मुह में ले ली अनिल का लण्ड इतना मोटा था की मेरे मुह में आ नहीं रहा था अनिल ने मुह को थोड़ा चिर के लण्ड डाल दिया मुझे सांस लेने में भी प्रॉब्लम होने लगी थी मेरे कंठ तक लण्ड जा रहा था.

    पर मैं उसके लण्ड को मुह में बर्दाश्त नहीं कर पाई मैं कहा अनिल आज तुम मुझे इतना चोदो की बारह साल की कमी पूरी हो जाये अनिल मेरे टांगो को अलग अलग किया और चूत को चिर के देखा और बोला ओह्ह माय गॉड आपकी चूत तो एकदम लाल है ऐसा लग रहा है आप वर्जिन है, मैंने कहा मत तड़पाओ चोद दो मुझे और उसने मेरे चूत पे लण्ड का सुपाड़ा रखा और लण्ड को चूत में डालने लगा पर चूत के अंदर लण्ड प्रवेश नहीं कर पा रहा था, फिर अनिल में चूत में और लण्ड पे वेसलिन लगाया और जोर से धक्का मार पूरा लण्ड मेरे चूत में समा गया, एक अलग ही आनंद की अनुभूति हुई, मैं अब अपना गांड उठा उठा के चुदवाने लगी.

    मेरे मुह से सिर्फ आअह आआह उफ्फ्फ्फ़ उफ्फ्फ्फ़ निकल रहा था और वो मुझे चोदे जा रहा था, करीब वो मुझे १ घंटे तक चोदा मैं पसीने से तर वतर हो गई थी, अब मैं पूरी तरह से संतुष्ट थी मैं तीन से चार बार झड़ चुकी थी, अनिल एक गहरी सांस लेते हुए और और जोर से आआअह की आवाज करते हुए सारा माल मेरे चूत के अंदर ही डाल दिया और दोनों एक दूसरे को पकड़ को सो गए, फिर क्या था रात मेरी ज़िंदगी काफी अच्छी कटने लगी, मैं सुबह होने का इंतज़ार करती थी कब सुबह हो और अनिल मेरी बाहों में हो, क्यों की वो रात को मेरी बेटी के साथ सोता था मैं तो दिन की थी.

    पर इस महीने गड़बड़ हो गया है, मैं घर में किट लाके चेक की मैं प्रेग्नेंट हु, क्यों की आठ माहवारी हुए आठ दिन हो गए है, किट में पॉजिटिव है, क्या करूँ अब तो मैं अपने दामाद के बच्चे की माँ बनने बाली हु, क्या करूँ समझ में नहीं आ रहा है,
     
Loading...

Share This Page


Online porn video at mobile phone


टाईट पुच्चीআমার সেক্সি ভদ্র মায়ের পরকিয়া চটি গল্পtamil kamakathaikal kulathil athaighar ho to aisa sex storiesEn ammavai otha kudikaran kama kathaicheriya pengale kalichuআমেরিকান মেয়েদের চৌদাচোদি বাংলা চটিSex hot ছবি15বছরেরXnxn vidhav 2098dhobi ghat par ma aor my xxx kahaniமஜாமல்லிகாকে চোদে কাকেமோகினி தேவதை யின் காமக்கதைகள்ಮೂಲೀ ತುಲುபப்பாளி போன்ற முலைகள்পায়খানা মাখা পোঁদ চুদার গল্পहर किसी ने मेरी सील तोड़ी ছোত বোনকে পোদ মরা গলপপাঠানি xxxtamil mamisex storeচুদি আমি শারমিনസിന്ധുമ്മ abbu see chudayiತುಲ್ಲು ಅಮ್ಮ ರತಿআপু চাটিদিদির ভোদা চাটে ভাই চটি அக்காவின் இளம் முலை சப்பிய தம்பி காம கதைবুড়ি চোদার মজা চটিপাশের বাড়ির মেয়েকে গুতামা ও নানি চোদাமும்தாஜ் காமகதைகள்தங்கச்சி,புண்டையை,கிழிப்பது,எப்படிसेक्सचा पहिला अनुभवকাজের মেয়ের সাথে চুদাচুদির গল্পவினிதா அபச ஒல் படம்गुलाबी की टांगे ऊपर थी तो उसे लंड जाते आते दिख रहा थाअंकल आणि मम्मी सेक्सी मराठी कथा பஸ்சில் குன்டி காமவிலையாட்டு கதைwww.antarvasana2.comশালীর পা চাটলামमाझ्या भावाने माझे बुब्स चोकले सेक्स स्टोरीजchacha bhatiji xxx golpoকাকিমার তলপেটে মালিশ করে দিলামఅక్క తమ్ముడు సెక్స్ అటలుவிட்டு ஆட்டுடாWww.xxxxதமிழ்মধু মেখে চোদার গল্পमराठी झवाझवि कथाচোদার আনন্দ চটিಶಿಲ್ಪಾ ತುಲ್ಲುदीदी ने चूत अदल बदलকাকির নেলপালিশ পায়ে পা চাটা চটিடீச்சரின் புண்டைভাজিন আন্টিকে চুদায চটিমাক চুদি ভাল লাগেsalabhauja ku gehileচোদে আমার ভোদা শেষ করbangla panu golpo bou searingமுதல் முறை தங்கை ஓல்சித்தாளை ஓத்த மேஸ்திரிமாமானரிடம்.இன்பம்.அந்தரங்கம்.ஒழ்.கதைகள்जो लडके अपने लड़ं पर चड़ाते है सोइ हुइ मा को चूदाXxx চাদে নিয়ে মাকে চোদা চটি XXXwww.xxxindeyn bd.com কোমবলের নিচে চটিमराठी झवाझवी काहनीবাংলা চটি নানীxnxx harmozaदोनो से चुदती हु হুজুরের বউ চটিtelugu.new.dengudukatalukoduku magatanam sexजिस्म की जरूरत sex kathaகாட்டு வாசி புண்டைசின்ன சூத்து videosচুদে দেওয়ার গল্পபாட்டி வீடு காம கதை அக்காদুই ভাই বৌ পাল্টে চোদাচুদি একই রুমে পারিবারিক চটি গল্পবড় বোনকে আর মা কে চুদলাম Coti Golpoഎന്റെ മൂലത്തില്‍ സാധനംஅம்மா ஆயா sex video hdsasur aur bahu sex story thread mamiyar marumagan ok kathaikalஜோடியை மாற்றி கூதிஅக்காவின் தோழியுடன் காமகதைடாக்டர்,செக்ஸ்கதைஅம்மாவை வெறிகொண்டு ஓத்த தமிழ்ভাবীর গুদে চটি বাংলাകമ്പികഥാ ചേച്ചീमम्मी ने जानबूझ कर चुदवायाTamil Amma bra potala kamakadhaiछोटी बहन को मेरी पत्नी ने लंड का चस्का लगा दियामोटी मौसी को कैसे पटायेদিদা চটি/coroas40/threads/bangla-choti-golpo-latest-%E0%A6%A1%E0%A7%8D%E0%A6%B0%E0%A6%BE%E0%A6%87%E0%A6%AD%E0%A6%BE%E0%A6%B0-%E0%A6%9C%E0%A7%8B%E0%A6%B0-%E0%A6%95%E0%A6%B0%E0%A7%87-%E0%A6%AE%E0%A6%BE%E0%A6%B2%E0%A6%BF%E0%A6%95-%E0%A6%8F%E0%A6%B0-%E0%A6%AC%E0%A6%89-%E0%A6%8F%E0%A6%B0-%E0%A6%AA%E0%A6%BE%E0%A6%9B%E0%A6%BE-%E0%A6%A6%E0%A6%BF%E0%A7%9F%E0%A7%87.116836/